अब भविष्य में क्लाउड गेमिंग के जरिए मोबाइल फ़ोन में भी खेल सकेंगे जीटीए 5 जैसे गेम्स » वृतांत

आज के समय में गेमिंग सभी लोगो की पसंद बन गयी है और हर कोई आज गेमिंग में रूचि ले रहा है। इसका मुख्य कारण है आज ज्यादातर लोगो के पास स्मार्टफोन है और साथ में ही 4G इंटरनेट भी जिसके कारण आज लोग अपने मोबाइल फ़ोन में ही बेहतरीन ग्राफिक्स के साथ गेम्स खेलना पसंद करते है। आज के समय में मोबाइल फ़ोन की टेक्नोलॉजी इतना ज्यादा आगे निकल गयी है कि हम अपने मोबाइल फ़ोन में कोई भी गेम खेल सकते है और वो भी हाई ग्राफिक्स के साथ। ऐसे में कई लोगो को जीटीए जैसे गेम्स खेलना भी पसंद होता है लेकिन उनको चलाने के लिए पॉवरफुल पीसी की आवश्यकता होती है जो हर किसी के पास नहीं होता है। लेकिन फिर भी कई लोगो के मन यह ख्याल आता है कि हम हमारे मोबाइल फ़ोन में भी जीटीए जैसे गेम्स खेल पाते। कई लोगो के पास पीसी और लैपटॉप भी होते है लेकिन जीटीए 5 जैसे गेम को चलाने के लिए पीसी या लैपटॉप में आवश्यक विशेषताएं चाहिए होती है नहीं तो जीटीए 5 जैसे गेम को साधारण पीसी या लैपटॉप सपोर्ट नहीं कर पाते है। लेकिन अब भविष्य में लोगो को इस तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योकि कई गेमिंग और टेक कम्पनिया एक ऐसे तरीके को लेकर आयी है जिसकी मदद से हम जीटीए 5 जैसे हाई पीसी गेम्स को भी हमारे फ़ोन में चला पाएंगे और खेल पाएंगे। इस नयी टेक्नोलॉजी को क्लाउड गेमिंग के नाम से जाना जाता है। इस टेक्नोलॉजी की मदद से जीटीए जैसे गेम्स खेलने के लिए हमे सिर्फ इंटरनेट कनेक्शन चाहिए और आप बिना कोई एप या फाइल डाउनलोड किये बिना ही ऐसे गेम्स का मज़ा उठा पाएंगे।

इस क्लाउड गेमिंग के जरिए सभी गेम्स इंटरनेट सर्वर्स पर रन होते है और जो गेम आप चाहे उसे अपने फ़ोन में डायरेक्ट रन कर सकते है। इसके लिए अपने फ़ोन को गेमिंग सर्वर से जोड़ने की जरुरत होगी उसके बाद आप सीधे किसी भी गेम को अपने फ़ोन में चला पाएंगे। ऐसे में आप अपने मोबाइल से ही गेम के सभी फीचर्स को नियंत्रित कर सकते है। जो भी कमांड आप गेम में देते है वह फिर से सर्वर्स के पास जाती है और इसी तरह से पूरी प्रक्रिया पूरी होती है। देखा जाये तो आप खुद गेम को नियंत्रित कर रहे हो और चला पा रहे है लेकिन ये गेम्स वास्तव में किसी सर्वर पर रन कर रहे होंगे। कई बड़ी दिग्गज कंपनियों जैसे माइक्रोसॉफ्ट और गूगल ने भी क्लाउड गेमिंग को पेश किया है। लेकिन परेशानी केवल एक बात की है और वह यह है कि भारत में इसके लिए अभी तक कोई भी सर्वर नहीं है। भारत में क्लाउड गेमिंग के सर्वर्स नहीं होने के कारण कोई भी गेम यदि हम खेल रहे होंगे तो वह हम किसी दूसरे देश में स्थित सर्वर से खेल पाएंगे। ऐसे में चाहे इंटरनेट कितना भी तेज हो फिर भी गेम पूरी निरंतरता के साथ नहीं चल सकेगा और बीच – बीच में रुकावट भी आएगी।

लेकिन अब भारत में भी क्लाउड गेमिंग के लिए अच्छी खबर सामने आ रही है क्योकि एक गेमिंग कम्पनी जिसका नाम द गेमिंग प्रोजेक्ट है, यह भारत में अपने सर्वर के साथ काम कर रही है। ऐसे में अब देख के यह लगता है कि भारत में क्लाउड गेमिंग का भविष्य बहुत ही आगे जाने वाला है और आने वाले दिनों में हम जीटीए 5 भी बड़ी आसानी से हमारे मोबाइल फ़ोन में चला पाएंगे। हालाँकि द गेमिंग प्रोजेक्ट के सर्वर्स पर जो भी गेम उपलब्ध होंगे अभी केवल वही खेल सकते है। लेकिन आने वाले समय में हमे जीटीए 5 जैसे हैवी गेम्स भी भारत में क्लाउड गेमिंग के जरिए उपलब्ध होंगे। इसके लिए केवल हमे के स्थायी ब्रॉडबैंड इंटरनेट चाहिए होगा जिसकी स्पीड 10 एमबीपीएस तक होनी चाहिए। लेकिन अगर बात की जाये 5ग की तो गेमिंग का मज़ा और भी दोगुना हो जायेगा क्योकि 5G इंटरनेट में हमे जरुरत से ज्यादा तेज इंटरनेट मिल सकेगा। कई अन्य कम्पनिया भी अब क्लाउड गेमिंग की तकनीक को और स्थायी और सुगम बनाने के लिए काम कर रही। आने वाले समय में हम भारत में क्लाउड गेमिंग के जरिए गेम्स का मज़ा उठा पाएंगे।



Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *